Makar Sankranti Songs: इस साल संक्रांति के पर्व को इन गानों के साथ बनाएं और भी धमाकेदार

By | January 11, 2024
Makar Sankranti Songs List

Makar Sankranti Songs 2024: भगवान सूर्य को समर्पित, मकर संक्रांति या संक्रांति एक हिंदू त्योहार हैं। जो पूरे भारतीय उपमहाद्वीप में उमंग और उत्साह साथ मनाया जाता है। यह वह दिन है जिस दिन भारत और नेपाल के लोग अपनी फसल का जश्न बहुत उत्साह के साथ मनाते हैं। मकर संक्रांति का त्योहार प्रत्येक साल 14 या 15 जनवरी को मनाया जाता है 2024 में मकर संक्रांति 15 जनवरी सोमवार को मनाया जाएगा मकर संक्रांति के दिन  पतंग प्रतियोगिता अभी आयोजित की जाती हैं। जिसमें बच्चे बड़े सभी लोग सम्मिलित होकर पतंग बाजी का आनंद उठाते हैं। भारतीयों का मानना ​​है कि पवित्र नदी गंगा में डुबकी लगाने से आपके सभी पाप धुल जाते हैं और आपकी आत्मा शुद्ध और धन्य हो जाती है। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से मकर संक्रांति से दिन बड़े और रातें छोटी हो जाती हैं। इसके अलावा, यह भी मान्यता है कि ‘कुंभ मेले’ के दौरान मकर संक्रांति पर प्रयागराज में पवित्र ‘त्रिवेणी संगम’ (वह बिंदु जहां तीन पवित्र नदियां गंगा , यमुना और ब्रह्मपुत्र मिलती हैं) में डुबकी लगाने से बहुत लाभ होता है। इस समय यदि आप नदी में डुबकी लगाते हैं तो आपके जीवन के सभी पाप और बाधाएं नदी के प्रवाह के साथ बह जाएंगी। बॉलीवुड (Bollywood) में ऐसी कई फिल्में बनाई गई है’ जिसमें मकर संक्रांति पर गाने (Makar Sankranti Song) बनाए गए हैं। उन गानों का लुफ्त मकर संक्रांति (Makar Sankranti) के दिन उठा सकते हैं। 

ऐसे में  आज के आर्टिकल में बेहतरीन मकर संक्रांति हिंदी गाने ( Makar Sankranti Songs in Hindi) का बेहतरीन कलेक्शन आपके साथ साझा करेंगे पूरी जानकारी के लिए आर्टिकल पर बने रहिएगा चलिए जानते हैं- 

Makar Sankranti Songs in Hindi | मकर संक्रांति

मकर संक्रांति त्योहार के अवसर पर कई प्रकार के बॉलीवुड गाने भी बनाए गए हैं जिसका पूरा विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं- 

Also Read: जाने क्यों मनाया जाता है लोहड़ी का त्योहार, पढ़े लोहड़ी माता की कथा

दिल दे – हम दिल दे चुके सनम 

हम दिल दे चुके सनम एक ब्लॉकबस्टर फिल्म है फिल्म को संजय लीला भंसाली के द्वारा निर्देशित किया गया था। फिल्म के अंदर सलमान खान ऐश्वर्या राय अजय देवगन जैसे  कलाकारों ने काम किया था।  फिल्म के अंदर धील दे गाना सलमान खान और ऐश्वर्या राय के ऊपर फिल्माया गया था इस गाने को  पतंग बाजी करते समय बैकग्राउंड में बजा सकते हैं। ताकि पतंगबाजी का आनंद अच्छी तरह से उठा सके। 

रूथ आ गई रे – पृथ्वी 1947  

रूथ आ गई रे गाना बेहतरीन मकर संक्रांति गानों में से एक हैं।  इस गाने को आमिर खान और नंदिता दास पर फिल्माया गया हैं।  गाने को सुनते हुए यदि पतंग बाजी करते हैं तो आपको पतंगबाजी करने में दुगना मजा आएगा  यह गाना बदलते मौसम के एहसास को पूरी तरह से कैप्चर करता है।

मांझा – काई पो चे 

काई पो चे फिल्म  एक ब्लॉकबस्टर फिल्म हैं।  इस फिल्म में मुख्य तौर पर दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत राजकुमार राय जैसे कलाकारों ने काम किया था। काई पो चे फिल्म का गाना मांझा पतंगबाजी पर फिल्माया गया हैं।  ऐसे में मकर संक्रांति के दिनों में पतंगबाजी करते समय  बैकग्राउंड में इस गाने को बजा सकते हैं। फिल्म का यह गीत हमारी शीर्ष मकर संक्रांति गीतों की सूची में होने का पूरा हक रखता है। 

अंबरसरिया – फुकरे 

आप अपने प्यार का इजहार करना चाहते हैं तो आप मकर संक्रांति के दिन पतंग उड़ाते समय बैकग्राउंड में अंबरसरिया गाना बजा कर आप अपने क्रश को Impress कर सकते हैं। यह गाना पूरी तरह से स्थिति में फिट बैठता है। 

मेरी प्यारी पतंग – दिल्लगी 

मेरी प्यारी पतंग गाना दिल्लगी फिल्म का है या गाना भले ही पुराना है लेकिन आज भी मकर संक्रांति के त्योहार पर पतंगबाजी के समय इस गाने को आप लोग सुन सकते हैं। 

उदी उदी जाए – रईस

उदी उदी जाए  गाना रईस फिल्म का है इस गाने को शाहरुख खान और माहिरा खान के ऊपर फिल्माया गया हैं।  उड़ी उड़ी जाए अपने क्रश के साथ डांस करने के लिए एकदम सही विकल्प है।

अरी छोड़ दे पतंग – नागिन 

अरी छोड़ दे पतंग गाना नागिन फिल्म का हैं। जो 1954 में रिलीज हुआ था।  इस फिल्म में प्रमुख तौर पर प्रदीप कुमार और वैजयंती माला ने काम किया था इस गाने को काफी अच्छी तरह से प्रदीप कुमार और जयंती माला पर फिर माया गया था गाना भले ही पुराना हो लेकिन मकर संक्रांति में पतंगबाजी उत्सव के दौरान इस गाने को बजाया जाता हैं। 

मैं बन पतंग उद जौन

नूरजहां भारतीय सिनेमा जगत की  मशहूर गायिका थी मैं बन पतंग उद जौन  गाना मकर संक्रांति के त्योहारों में  जरूर बजाया जाता है गाना की धुन और संगीत इतनी मीठी है कि कोई भी व्यक्ति इन गानों को सुने बिना रह नहीं सकता यही कारण है कि यह हमारे बॉलीवुड मकर संक्रांति गीतों की सूची में है। 

9. चली चली रे पतंग – भाभी

पुरानी क्लासिक फिल्म भाभी का यह गीत पतंगबाजी उत्सव थीम को पूरी तरह से सेट करता है।  इस गाने को जगदीप और नंद पर फिल्माया गया था फिल्म 1957 में रिलीज हुई थी। 

इन्हें भी पढ़ें:- मकर संक्रांति शायरी हिंदी में 2024

मकर संक्रांति सोंग्स लिरिक्स (Lyrics) | मकर संक्रांति गाने के बोल

उड़ी उड़ी जाए – रईस

उड़ी उड़ी जाये

दिल की पतंग देखो उड़ी उड़ी जाए

[तारने तरलो मेलो जामयो

जामयो हेत नो होदो] x 2

हाले कोणी रामी लायी

हाले कोणी रामी लायी

[तारने तरलो मेलो जामयो

जामयो हेत नो होदो] x 2

मेरे जीवन के गल्ले में

तेरा प्यार ही तो मेरा धन है

तू है तो धनवान हूँ मैं

हो.. प्रेम के इस मोहल्ले में

मेरा घर तेरा ही तो ये मन है

की तेरी मेहमान हूँ मैं, हाँ

जैसे सुगंध फूल के संग

चाँद के संग किरण
जैसे रस्सा दारु के संग

बाम के संग रगन

माझे से लिप्टी ये पतंग

जुडी जुडी जाए

उड़ी उड़ी जाये

उड़ी उड़ी जाये

दिल की पतंग देखो उड़ी उड़ी जाए

ये जो पतंग है तेरे ही संग है

तेरी ही और देख मुड़ी मुड़ी जाए

दो दिल उड़े, दो दिल उड़े

ऊँचे आसमानों में जुड़े..

दो दिल उड़े, दो दिल उड़े

ऊँचे आसमानों में जुड़े..

अरे उड़ी उड़ी उड़ी.. उड़ी जाये..

उड़ी उड़ी जाये.

दिल दे – हम दिल दे चुके सनम

कैपोचे

आय ढील दे ढील देदे रे भैया…

उस पतंग को ढील दे

जैसी ही मस्ती मे आये

अरे जैसी ही मस्ती मे आये

उस पतंग को खींच दे

ढील दे ढील देदे रे भैया

Hum Dil De Chuke Sanamतेज़ तेज़ तेज़ है मांजा अपना तेज़ है…

ऊंगली कट सकती है बाबु..

तो पतंग क्या चीज़ है

ढील दे ढील देदे रे भैया..

उस पतंग को ढील दे

जैसी ही मस्ती मे आये..

उस पतंग को खीच दे

ढील दे ढील देदे रे भैया

कैपोचे

एय लपेट

तेरी पतंग तो गयी काम से

कैसी कटी उडी थी शान से

चल सरक अब खिसक

तेरी नही थी वो पतंग

वो तो गयी किसीके संग संग संग

ओह गम ना कर घुमाफिर्के तू फिरसे गर्र गर्र

आसमान है तेरा प्यार होसला बुलद कर

दम नही है आंखो मे ना मांजे की पकड़ है

तन्नी कैसे बांधते है इसको क्या खबर है

लागले पेच फिर से तू होने दे जंग

नज़र सदा हो ऊची सिखाती है पतंग

सिखाती है पतंग

ढील दे ढील देदे रे भैया…

ढील दे,

ढील दे ढील देदे रे भैया…

उस पतंग को ढील दे

जैसी ही मस्ती मे आये…

उस पतंग को खींच दे

ढील दे ढील देदे रे भैया

कैपोचे

इन्हें भी पढ़ें:- मकर संक्रांति के मुहूर्त के बारे? पढ़े इस लेख में

रूथ आ गई रे – पृथ्वी 1947 

पीली पीली सरसों फूल पीले पत्ते झूम
पीहु पीहु पपिया बोले चल बाग में

धमक धमाक ढोलक बाजे छनक छनक पायल छंके
खनक खनक कंगना बोले चल बाग में
चुनरी जो तेरी उड़ती है उड़ जाने दे
बिंदिया जो तेरी गिरती है गिर जाने दे
चुनरी जो तेरी उड़ती है उड़ जाने दे
बिंदिया जो तेरी गिरती है गिर जाने दे

रुथ आ गई रे रुथ छा गई रे (दो बार दोहराएं)

गीतों की मौज आई फूलों की फौज आई
नदियों में जो धूप घुली सोना बहार
खंबवा से है लिपि एक बेल पे लेकिन
तू ही मुझसे है दूर आ पास आ
मुझको तू सांसों से छूले
झूले बहनों के झूले
प्यार थोड़ा सा मुझको देके मेरे जानो दिल तुम लेलो

रुत आ गई रे रुथ छा गई रे
रुत आ गई रे रुथ छा गई रे

पीली पीली सरसों फूल पीले पत्ते झूम
पीहु पीहु पपिया बोले चल बाग में
धमक धमाक ढोलक बाजे छनक छनक पायल छंके
खनक खनक कंगना बोले चल बाग में
चुनरी जो तेरी उड़ती है उड़ जाने दे
बिंदिया जो तेरी गिरती है गिर जाने दे
चुनरी जो तेरी उड़ती है उड़ जाने दे
बिंदिया जो तेरी गिरती है गिर जाने दे

रुथ आ गई रे रुथ छा गई रे (दो बार दोहराएं)

तू जब यूं सजती है एक झूम मचती है
सारी गलियों में सारे बाजार में
आंचल बसंती है उसमें से छांटी है
जो मैंने पूजी है मूरत प्यार में
जाने कैसी है ये डोरी
जिसको बांधा हूं मैं गोरी
तेरे नैनों ने मेरी नींदें की करली है चोरी

रुथ आ गई रे रुथ छा गई रे (3 बार दोहराएं)

पीली पीली सरसों फूल पीले पत्ते झूम
पीहु पीहु पपिया बोले चल बाग में
धमक धमाक ढोलक बाजे छनक छनक पायल छंके
खनक खनक कंगना बोले चल बाग में
चुनरी जो तेरी उड़ती है उड़ जाने दे
बिंदिया जो तेरी गिरती है गिर जाने दे
चुनरी जो तेरी उड़ती है उड़ जाने दे
बिंदिया जो तेरी गिरती है गिर जाने दे

रुथ आ गई रे रुथ छा गई रे (दो बार दोहराएं)

रुथ आ गई रे..
रुथ आ गई रे…
रुथ आ गई रे रुथ चा गई रे
रुथ आ गई रे

4. मांझा – काई पो चे

रूठे ख़ाबों को मन लेंगे

कटि पतंगों को थामेंगे

हा हा है जज़्बा

हो हो है जज़्बा

सुलझा लेंगे उल्झे रिश्तों का मांझा

हम्म का मांझा हम्म का मांझा सोया तकदीरे जगा देंगे

कल को अंबर झुकेंगे

हा हा है जज्बा हो हो है जज्बा

सुलझा लेंगे उल्झे रिश्तों का मांझा

हम्म मांझा हो हो बर्फीली आंखों में

पिगला सा देखेंगे हम कल का चेहरा

हो हो पत्रीले देखने में

उबाला सा देखेंगे हम लड़ेंगे गहरा

अगन लगी लगन लगी

टूटे ना टूटे ना जज़्बा ये टूटे ना

मगन लगी लगन लगी

कल होगा क्या कह दो

किस को है परवा

परवाह परवाह रूठे ख़ाबों को मन लेंगे

कटि पतंगों को थामेंगे

हा हा है जज्बा हो हो है जज्बा

सुलझा लेंगे उल्झे रिश्तों का मांझा

हम्म मांजा हम्म मांजा

5. अंबरसरिया – फुकरे


गली में मारे फेरे

पास आने को मेरे

गली में मारे फेरे

पास आने को मेरे

कभी परखता नैन मेरे

तो कभी परखता तोल

कभी परखता नैन मेरे

तो कभी परखता तोल

द्वारा संचालित

वीडीओ.एआई

अंबरसरिया मुंड्या वे

कच्छियां कलियां न तोड़

अंबरसरिया मुंड्या वे

कच्छियां कलियां न तोड़

तेरी मां ने बोले हैं

मुझे तीखे से बोल

तेरी मां ने बोले हैं

मुझे तीखे से बोल

अंबरसरिया…

हो अम्बरसरिया…

मैं कलियों के जैसी

मेरी अलहद उमर नियादी

छोटी सी ये जान मेरी

और जोबन बढ़ाता पानी

अरे मैं कलियों के जैसी

मेरी अलहद उमर नियादी

छोटी सी ये जान मेरी

और जोबन बढ़ाता पानी

जब से चढ़ी जवानी

ढूंढती दिल दा हैनी

जब से चढ़ी जवानी

ढूंढती दिल दा हैनी

मैं अंजनी कोए पानी

ले ना जावे रॉड..

अंबरसरिया मुंड्या वे

कच्छियां कलियां न तोड़

अंबरसरिया मुंड्या वे

कच्छियां कलियां न तोड़

तेरी मां ने बोले हैं

मुझे तीखे से बोल

तेरी मां ने बोले हैं

मुझे तीखे से बोल

अंबरसरिया…

अंबरसरिया…

हो.. गोरी गोरी मेरी कलाई..

हाय…

हो.. गोरी गोरी मेरी कलाई

चूड़ियां काली काली

मैं शर्माती रोज लगाती

काजल सुरमा लाली

नहीं मैं सुरमा पाड़ा

धूप न मैं चमकाना

नहीं मैं सुरमा पाड़ा

धूप न मैं चमकाना

नैन नशेले होन अगर तो

सुरमेती की लोद

अंबरसरिया मुंड्या वे

कच्छियां कलियां न तोड़

अंबरसरिया मुंड्या वे

कच्छियां कलियां न तोड़

तेरी मां ने बोले हैं

मुझे तीखे से बोल

तेरी मां ने बोले हैं

मुझे तीखे से बोल

अंबरसरिया…

हो अम्बरसरिया।।

इन्हें भी पढ़ें:- Makar Sankranti Vahan 2024

मकर संक्रांति के गाने | Songs List for Makar Sankranti 

मकर संक्रांति के पावन अवसर पर लोग अपने घरों में विभिन्न प्रकार के मकर संक्रांति संबंधित बॉलीवुड गाने बजाए जाते हैं। इससे मकर संक्रांति मनाने का मजा दुगना हो जाता है। हम आपको नीचे हिंदी बॉलीवुड मकर संक्रांति की गानों की सूची उपलब्ध करवा रहे हैं- 

रुत आ गई रे- फिल्म ‘1947 : ‘अर्थ’ 

रुत आ गई रे  गाना आमिर खान और नंदिता दास पर फिल्माया गया हैं।  गाने को जावेद अख्तर साहब ने लिखा है और संगीत ए आर रहमान ने दिया है। पतंगबाजी उत्सव की शुरुआत रुत आ गई रे गाने के माध्यम से कर सकते हैं।

मांझा- फिल्म ‘काई पो चे’

 पतंगबाजी प्रतियोगिता के समय आप बैकग्राउंड में मांझा गाना बजा सकते हैं जो फिल्म ‘काई पो चे’ का है  इस बेहतरीन गाने को पतंगबाजी के ऊपर बेहतरीन तरीके से फिल्माया गया हैं। फिल्म की कहानी लेखक चेतन भगत की नोवल ‘द थ्री मिस्टेक्स ऑफ माई लाइफ’ पर आधारित थी।  फिल्म में मुख्य तौर पर  दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत राजकुमार राय औरमित सध जैसे कलाकारों ने काम किया है  फिल्म में संगीत अमित त्रिवेदी ने दिया हैं।

ढील दे- फिल्म ‘हम दिल दे चुके सनम’

हम दिल दे चुके सलमान खान और ऐश्वर्या राय अभिनीत एक ब्लॉकबस्टर मूवी हैं। फिल्म का निर्देशन संजय लीला भंसाली के द्वारा किया गया है इस फिल्म का गाना ढील दे काफी लोकप्रिय हुआ था जिसे पतंगबाजी पर फिल्माया गया था मकर संक्रांति के दिन पतंगबाजी के उत्सव में आप इस गाने को बैकग्राउंड में सुन सकते हैं।  इससे आपको पतंगबाजी करने का दुगना मजा आएगा

अंबरसरिया- ‘फुकरे’

मकर संक्रांति के पावन त्यौहार पर पतंगबाजी का एक विशेष महत्व होता है पुराने समय में लोग प्यार का इजहार पतंग पर संदेश लिखकर किया करते थे ऐसे में आप भी अपने प्यार का इजहार आकाश में पतंग उड़ाकर कर सकते हैं। इसके लिए आप जब अपने प्यार का इजहार करेंगे तो उस समय  बैकग्राउंड में’अंबरसरिया’ गाना बजा सकते हैं | इस गाने को लिखा मुन्ना धीमान के द्वारा लिखा गया है  गाने को सोना महापात्रा के द्वारा गया Sing किया गया हैं। 

उड़ी उड़ी जाए- ‘रईस’

फिल्म रईस का गाना ‘उड़ी उड़ी जाए’ शाहरुख खान और माहिरा खान पर फिल्माया गया है।  इस गाने को पतंगबाजी उत्सव पर केंद्रित कर कर बनाया गया हैं। गाने को सुखविंदर सिंह, भूमि त्रिवेदी और करसन सगठिया ने गाया है, जबकि गाने का संगीत राम संपत ने दिया है। मशहूर गीतकार जावेद अख्तर ने गाने के बोल दिए हैं।

मकर संक्रांति पर हिंदी गाने | Song On Makar Sankranti

 मकर संक्रांति के त्योहार पर आप कई हिंदी गाने बैकग्राउंड में बजाकर मकर संक्रांति त्यौहार का आनंद उठा सकते हैं इसका पूरा विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं आई जानते हैं-

अरी छोड़ दे पतंग – नागिन

अरी छोड़ दे पतंग मशहूर हिंदी ब्लॉकबस्टर मूवी नागिन का है गाने को वैजयंती माला और प्रदीप कुमार के ऊपर फिल्माया गया हैं। फिल्म 1954 में रिलीज हुई थी गाने को लता मंगेशकर ने Sing किया हैं।

मैं बन पतंग उद जौन

 इस गाने को नूरजहां के द्वारा Sing  किया गया है गाना भले ही पुराना हो लेकिन आज भी इस गाने को पतंगबाजी उत्सव के समय लोगों के द्वारा सुना जाता हैं।  इससे पतंगबाजी करने में मजा आता हैं।  यही कारण है कि यह हमारे बॉलीवुड मकर संक्रांति गीतों की सूची में है। 

चली चली रे पतंग – भाभी

भारत में मकर संक्रांति के दिन पतंगबाजी संबद्ध पत्रिकाएं आयोजित की जाती हैं जिसमें अधिक संख्या में लोग सम्मिलित होकर पतंगबाजी का लुफ्त उठाते हैं ऐसे में बैकग्राउंड में चली रे चली पतंग गाना अगर आप बजाते हैं तो आपको पतंगबाजी करने का आनंद प्राप्त होगा। इस गाने को  जगदीप और नंद पर फिल्माया गया था। फिल्म 1997 में रिलीज हुई थी गाने को लता मंगेशकर और मोहम्मद रफी ने गया हैं। फिल्म में संगीत चित्रगुप्त ने दिया हैं।

मकर संक्रांति गाने | Makar Sankranti Song 

मकर संक्रांति के ऊपर विभिन्न प्रकार के बॉलीवुड गाने बनाए गए हैं अगर आप उन सभी गानों को सुनना चाहते हैं तो आप यूट्यूब पर जा सकते हैं।  वहां पर जाकर मकर संक्रांति बॉलीवुड गाना अगर आप लिखते हैं तो आपके सामने विभिन्न प्रकार के मकर संक्रांति गानों की सूची आ जाएगी जिनमें  आप अपनी पसंद का कोई भी गाना सुन सकते हैं।

मकर संक्रांति गाने डाउनलोड | Makar Sankranti Songs Download 

मकर संक्रांति से जुड़ी कोई भी बॉलीवुड गाना अगर आप डाउनलोड करना चाहते हैं तो आज इंटरनेट पर आपको कोई ऐसी वेबसाइट मिल जाएंगे जहां से आप मकर संक्रांति के गाने बिल्कुल फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं। नीचे हम आपको कुछ बेहतरीन वेबसाईट का विवरण दे रहे हैं। जहां से आप मकर संक्रांति के गाने डाउनलोड कर सकते हैं। चलिए जानते हैं-

  • Wynk Music
  • Gana 
  • Ragga. Com
  • Boomplay Music
  • Jio Saavn
  • Hungama
  • Pagalworld 

Summary: उम्मीद करता हूं कि हमारे द्वारा लिखा गया आर्टिकल आपको पसंद आएगा आर्टिकल संबंधित अगर आपका कोई भी सुझाव या प्रश्न है तो आप हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर पूछ सकते हैं उसका उत्तर हम आपको जरूर देंगे तब तक के लिए धन्यवाद और मिलते हैं अगले आर्टिकल में 

FAQ’s Makar Sankranti Songs

Q. मकर संक्रांति को उत्तरायन के नाम से कहां मनाया जाता है ?

Ans. गुजरात और राजस्थान में मकर संक्रांति को उत्तारायन के नाम से जाना जाता है।

Q. मकर संक्रांति 2024 में कब मनाया जाएगा? 

Ans. मकर संक्रांति 2024 में 15 जनवरी सोमवार को मनाया जाएगाI

Q. मकर संक्रांति को माघ बिहू कौन से राज्य में बुलाया जाता है?

Ans. असम में मकर संक्रांति को बिहू कहा जाता है।

Q. पतंग उड़ाने की शुरुआत कब हुई थी ?

Ans. 2800 साल पहले पतंग उड़ाने की शुरुआत हुई थी।

Q. मकर संक्रांति के दिन किस चीज़ की सबसे ज्यादा महत्वता है ?

Ans. दान करने का महत्व मकर संक्रांति में सबसे ज्यादा होता है।

इस ब्लॉग पोस्ट पर आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद। इसी प्रकार के बेहतरीन सूचनाप्रद एवं ज्ञानवर्धक लेख easybhulekh.in पर पढ़ते रहने के लिए इस वेबसाइट को बुकमार्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *